Ek Onkar Lyrics (हिंदी & English)- Miss Pooja

Ek Onkar Lyrics: Ek Onkar is a Punjabi Shabad Gurbani sung by Miss Pooja. Ek Onkar song music composed by T-Series. Ek Onkar Lyrics are Traditional.

Ek Onkar Song Credits

Song: Ek Onkar
Singer: Miss Pooja
Music: T-Series
Lyrics: Traditional
Label: Shabad Gurbani
Genre: Punjabi Songs

Ek Onkar Lyrics

Ek Onkar Lyrics in Hindi

क ओंकार सतनाम करता पुरख
निर्मोह निरवैर अकाल मूरत
अजूनी सभम
गुरु परसाद जप आद सच जुगाद सच
है भी सच नानक होसे भी सच
सोचे सोच न होवई
जे सोची लख वार
चुप्पे चुप न होवई

जे लाइ हर लख्तार
उखिया पुख न उतरी
जे बनना पूरिया पार
सहास्यानपा लख वो हई
ता एक न चले नाल
के वे सच यारा होइ ऐ
के वे कूड़े टुट्टे पाल
हुकुम रजाई चलना नानक लिखिया नाल

Ek Onkar Shabad Gurbani Meaning in Hindi

ईश्वर केवल एक है। उसका नाम सत्य है।
वह रचयिता है, उसे कोई भय नहीं है, उसे कोई द्वेष नहीं है।
वह सर्वव्यापी, अजन्मा और आत्म-प्रकाशमान है।
गुरु की कृपा से वह साकार हो जाता है। उनके नाम का ध्यान करें।
वह समय शुरू होने के बाद से सच है।
वह युगों से सत्य है। वह अभी भी सच है।
गुरु नानक कहते हैं कि वह हमेशा के लिए सच्चे रहेंगे।

सोच कर आप उसे फ्रेम नहीं कर सकते,
भले ही आप लाख बार सोचे।
मौन रहने से आंतरिक मौन नहीं मिलता,
भले ही आप ध्यान में हमेशा के लिए चुप रहें।
ईश्वर में डूबे रहने पर भी,
उसे मन की शांति नहीं मिलती।
भूखे व्यक्ति की भूख दुनिया में आने के बाद भी तृप्त नहीं होती है।
मनुष्य के पास लाखों बुद्धि हो सकती है, लेकिन परमेश्वर के सामने कोई भी उसके लिए काम नहीं करेगा।
हम कैसे सच हो सकते हैं? झूठ का पर्दा कैसे तोड़ा जा सकता है?
गुरु नानक के आदेश का पालन करके।

Ek Onkar Lyrics in English

Ik onkar, satnam, karta purakh, nirbhau,
Nir vair, aakaal murat, ajooni se bhang,
Gur parsaad. Jap.
Aad sach jugaad sach,
Hai bhi sach naanak hosi bhi sach.
Sochey soch na hove je sochey laakh vaar,
Chupe chup na hove

Je lai raha liv taar,
Bhukyaa bhuk na utri je banna puriya bhaar,
Sehas sayaanpa lakh hoey ta ek na chale naal
Kiv sacheyara hoiye kiv kude tuttey paal
Hukam rajai chalna naanak likhya naal.

Ek Onkar Shabad Gurbani Meaning in English

There is only one God. His name is true.
He is the creator, He has no fear, He has no hate.
He is omnipresent, unborn, and self-illuminating.
By the Guru’s grace, He is realized. Meditate on His name.
He has been true since time began.
He has been true since the ages. He is still true.
Guru Nanak says he will forever be true.

With thinking, you can’t frame him,
even though you may think a million times.
Inner silence is not obtained by remaining silent,
even though you may remain forever silent in meditation.
Even though one remains soaked in God,
he doesn’t obtain peace of mind.
A hungry person’s hunger isn’t satisfied even after they attain the world.
A man may possess millions of wits but none will work for him before God.
How can we be true? How can the screen of lies be broken?
By obeying the orders of Guru Nanak.

Ek Onkar - Miss Pooja - Shabad Gurbani

Leave a Comment